Home Business 3 साल से था अच्छी खबर का इंतजार, बदले में मिली गाज

3 साल से था अच्छी खबर का इंतजार, बदले में मिली गाज

458
0

हाइलाइट्स

  • विदेश मंत्री ने राज्यसभा में कहा कि 39 भारतीयों के डीएनए मैच कर गए हैं और अगवा भारतीयों के मारे जाने की पुष्टि हो गई
  • मृतकों के शव को विदेश मंत्रालय इराक से वापस लेकर आएगा और परिवार को सौंपेगा
  • इराक में भारतीयों की मौत को लेकर संसद में काफी हंगामा भी हुआ, विपक्ष ने सरकार पर गुमराह करने का आरोप लगाया

उपेन्द्रे पाण्डेय जी की शर्मिला टैगोरी की खबर

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के इराक के मोसुल में 39 भारतीयों की मौत की पुष्टि के बाद से मृतकों के परिवार की आखिरी उम्मीद भी टूट गई। पिछले 3 साल से किसी अच्छी खबर की आस लगाए 39 परिवारों में मंगलवार को विदेश मंत्री के बयान के बाद सन्नाटा पसर गया। खबर सुनते ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

 इस बीच इराक में मारे एक भारतीय के संबंधी ने मीडिया से बातचीत में बताया कि दो बार डीएनए टेस्ट लिया गया लेकिन उन्हें उनके भाई की कोई जानकारी नहीं दी गई। मृतक के भाई ने कहा, ‘हमें जानकारी मिली थी कि हमारे भाई को आतंकियों ने अगवा कर लिया है। उसके बाद हमें उनके बारे में कुछ भी पता नहीं चला। दो बार मेरा डीएनए टेस्ट किया गया लेकिन कोई सूचना नहीं दी गई।’

हरी चीज में समय लगता है : वीके सिंह

विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह ने मामले पर अपना बयान देते हुए कहा, ‘हर चीज में समय लगता है, सुषमा जी ने पहले ही कहा था कि जब तक ठोस सबूत नहीं होगा मैं उनको मृत घोषित नहीं करूंगी।’ वीके सिंह ने आगे कहा, ‘उन्होंने अपना वादा रखा है, किसी को गुमराह नहीं किया है। विपक्ष का काम है कि हर चीज को गलत नजरिए से देखना इसलिए मैं इस पर टिप्पणी नहीं कर सकता।’

उन्होंने अपना वादा रखा है, किसी को गुमराह नहीं किया है। विपक्ष का काम है कि हर चीज को गलत नजरिए से देखना इसलिए मैं इस पर टिप्पणी नहीं कर सकता।वीके सिंह,विदेश राज्यमंत्री

इराक के मोसुल में मारे गए मंजिंदर सिंह के परिजन उनकी मौत की खबर मिलते ही बदहवास हो गए हैं। घर में मातम छाया हुआ है। मंजिंदर की बहन गुरपिंदर कौर ने कहा, ‘पिछले चार साल से विदेश मंत्रालय हमसे कह रहा था कि वे जिंदा हैं, पता नहीं कि अब किस पर यकीन किया जाए। मैं उनसे बात करने के लिए इंतजार कर रही थी, हमें कोई जानकारी नहीं मिली। अब हमने संसद में उनके बयान को सुना।’