Home political news खत्म होने वाली TV remote की जंग, आ गया है digital video...

खत्म होने वाली TV remote की जंग, आ गया है digital video का जमाना

438
0
digital video
people are watching videos (file photo) courtesy- goolgle

digital video has become the flag bearer of digital revolution in India.

nitin

सामान्य तौर पर हमारे देश के एक घर में एक टेलीविजन सेट (TV) होता है। और परिवार का प्रत्येक सदस्य साथ में बैठकर उस एक टीवी पर अपना-अपना पसंदीदा शो या कार्यक्रम देखाना चाहते हैं। अब एक टीवी, सैकड़ों channel और हर सदस्य की अपनी-अपनी पसंद। अगर एक सदस्य अपने पसंद का चैनल देखेगा तो दूसरे को समझौता करना पड़ता है। यहीं से शुरू होती है टीवी के remote पर कब्जा जमाने की जंग। ये कहानी है घर-घर की।
लेकिन अब इस जंग का अंत होने वाला है या होने की ओर है। क्योंकि अब परिवार के प्रत्येक सदस्य के पास smartphone है बस जरूरत उसे अपने पर्सनल TV screen में बदलने की। हाल में digital revolution ने उपभोक्ताओं को सीधा पहुंचाया है। इस revolution ने जन्म दिया है digital video की सुविधा को। इसके द्वारा हम अपने मनपसंद programme या telecast उसके web link के माध्यम से अपने mobile phone पर अपने मनपसंद समय पर देख सकते हैं।

इस तरह share trading कर कमा सकते हैं मोटा profit

इस वजह से देश में internet data के मूल्य डेढ़ साल पहले की तुलना में 80 प्रतिशत से भी कम हो चुके हैं और देश में bandwidth  की खपत 4 गुना बढ़ चुकी है। एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में वर्तमान में Internet consumers की संख्या 35 से 40 करोड़ के बीच है जिसकी 2020 तक 50 करोड़ हो जाने की उम्मीद है। Moblie Phone इंटरनेट का सबसे बड़ा flag bearer है और इसी के साथ बढ़ रहा digital video का कारोबार। इसके जरिये एक टीवी में अपने पसंदीदा चैनल या शो के समझौते या परिवार के अन्य सदस्यों के साथ होने वाली चिक-चिक समाप्त हो सकती है।

Digital Video के Link से सब कुछ आसान

digital video

तमाम कंपनियां अपने शो, विज्ञापन को digital video के रूप में लोगों के सामने ला रही हैं या लाने की तैयारी में लगी हैं। हर कार्यक्रम चाहे वह टीवी सीरियल हो, कोई विज्ञापन हो, खबरों का प्रसारण हो, सम्मान समारोह हो, सरकारी कार्यक्रम हो जैसी चीजों का वीडियो बनाकर हमारे सामने ला रही हैं। मान लीजिये अगर आप अपना पसंदीदा शो या कार्यक्रम देखने से रह गये हैं तो यूट्यूब या अन्य वीडियो चैनल के माध्यम से उस digital video का लिंक सर्च कर सकते हैं। और अपने मनमुताबिक समय पर digital video के रूप में वह कार्यक्रम देख सकते हैं.

Target audience तक पहुंचने में सहुलियत

इसके अलावा advertising प्रदाताओं या advertising agencies को भी अपने target audience तक पहुंचने में सहुलियत हो रही है। ये कंपनियां आपकी पसंद-नापसंद के हिसाब से आपके सामने advertisements पेश करती हैं।

तेजी से बढ़ रही digital video की हिस्सेदारी

वर्तमान में डिजिटल वीडियो के क्षेत्र में advertisements की हिस्सेदारी लगभग 8 प्रतिशत है। लेकिन अगर हम इसकी compound annual growth rate (CAGR) का अध्ययन करें तो इसके 25 प्रतिशत हिस्सेदारी तक पहुंचने की उम्मीद है। विशेषज्ञों के अनुसार 2020 के अंत तक भारत कुल वीडियो एडवरटाइजिंग में digital video की हिस्सेदारी 13 प्रतिशत होगी।

देश-विदेश के ये हैं बड़े players

इस अवसर को देखते हुए देश के ज्यादातर TV networks ने Over The Top (OTT) सिस्टम पर करना शुरू कर दिया है। India में इसको लेकर star India का Hotstar, वायकॉम18 का Voot, Sony Pictures Network India (SPN) का Sony liv, Zee Entertainment Enterprises का Zee5, Sun TV Network का Sun NXT समूह काम कर रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर Netflix, Amazon Prime Video और Vilu वे औद्योगिक समूह हैं जिन्होंने भारत में भी अपना कारोबार शुरू कर दिया है।

देश के telecom groups भी नहीं हैं पीछे :

देश के टेलीकॉम समूह भी इस क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। उन्होंने भी ग्राहकों को content उपलब्ध कराना शुरू कर दिया है। Jio TV, Airtel TV, Vodafone Play ऐसे ही नाम हैं।

तेजी से बढ़ रहा competetion

हालांकि इससे digital video के क्षेत्र में जबर्दस्त प्रतिस्पर्धा पैदा हो गयी है। Viewers को अपनी ओर खींच लेना आसान नहीं रह गया है। पहले से स्थापित players जैसे YouTube और MX Player उपभोक्ताओं की संख्या में मामले का काफी आगे हैं।
Market and consuming data उपलब्ध कराने वाले एक app ‘AppAnnie’ के अनुसार इस जनवरी में Hotstar, Voot, Sony liv और Zee5 के पास 13 billion, जबकि YouTube के पास अकेले 164 bilion minutes थे।
इस वजह से advertisers के पास अब सही platform चुनने की चुनौती पैदा हो गयी है।

India के संबंध में Internet से जुड़े कुछ तथ्य

-एक भारतीय देश में 2017 में औसतन प्रत्येक माह 3.9 जीबी डाटा consume कर रहा था। इस आंकड़े के 2023 तक 18 जीबी तक पहुंचने की उम्मीद है।
-25 करोड़ लोगों ने 2017 में digital video का प्रयोग किया। यह संख्या 2016 से 64 प्रतिशत अधिक थी।
-India में छोटे वीडियो अधिक पसंद किये गये। देखे गये digital video की औसत लंबाई 20 मिनट की थी।
-सबसे अधिक video YouTube पर देखे गये।
-40 प्रतिशत कुल consumption video के जरिये ही हुआ है। 2020 तक इसके 72% तक पहुंचने की संभावना है।
-भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा ऑनलाइन वीडियो देखने वाले लोगों की संख्या वाला देश है। इसमें प्रतिवर्ष 13 प्रतिशत की बढ़त होने की उम्मीद है।
-2020 तक India में लगभग 50 करोड़ लोग digital माध्यम से video देखेंगे। वर्तमान में यह आंकड़ा 25 करोड़ का है।
-India में हर साल मोबाइल फोन उपयोग की संख्या प्रतिवर्ष दोगुनी दर की हिसाब से बढ़ रही है। इंटरनेट की स्पीड लगातार तेज हो रही है और डाटा के rates लगातार कम हो रहे हैं।