Home political news मीडिया को डराना, भ्रष्टाचार से कमाना, ये है बीजेपी की मार्केटिंग :...

मीडिया को डराना, भ्रष्टाचार से कमाना, ये है बीजेपी की मार्केटिंग : राहुल

804
0
political news india
rahul gandhi, congress president

political news india : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भ्रष्टाचार, भ्रष्टाचार को प्रबंधित करने, सुप्रीम कोर्ट, सीबीआई, मीडिया जैसी संस्थाओं को धमकाने के आरोप लगा रहे हैं। उनका कहना है कि देश की मीडिया दबाव वश कुछ भी दिखा रहा हो लेकिन जनता सच्चाई जानती है। इसका असर आगामी लोकसभा चुनाव में दिखायी देगा और शुरुआत मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान राज्यों के विभानसभा चुनावों के साथ हो जायेगी। ये बातें राहुल गांधी ने एक साक्षात्कार में कही हैं। उन्होंने साक्षात्कार में खुलकर ज्वलंत मुद्दों पर अपने विचार सामने रखे हैं। political news india

बीजेपी की मार्केटिंग के बारे में

ये हिंदुस्तान है, तमाम संस्कृतियों, विचारधाराओं का देश है। इसे मार्केटिंग से नहीं देशवासियों को साथ जोड़कर चलाया जा सकता है। ये सारी मार्केटिंग मीडिया को डराकर बनायी जा रही है। ये डर हमेशा नहीं चलेगा। अगर मार्केटिंग से ही सरकारें बनती और चलतीं तो 2004 में इंडिया शाइनिंग के नारे और जोरदार मार्केटिंग के बावजूद बीजेपी चुनाव नहीं हारती। बीजेपी मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में ये जो मार्केटिंग कर रही है इसके लिए धन भ्रष्टाचार से आया है। व्यापम, राफेल जैसे घोटालों से आया है। political news india

यह भी पढ़ें : मोदी जी! एक कारण बता दो कि देश का सवर्ण युवा आपको वोट क्यों दे?

political news india शिवराज, रमन, वसुंधरा पर

बीते 15 सालों में शिवराज सिंह और रमन सिंह भ्रष्टाचार के नेशनल चैंपियन बन गये हैं। इन दोनों को सत्ता में आये हुए 15 साल का वक्त हो चुका है। शुरुआत में इन्हें कुछ जिम्मेदारी का अहसास था लेकिन अब तो इन्होंने भ्रष्टाचार के सारे रिकार्ड तोड़ दिये हैं। political news india

एंटी इंकम्बेंसी के बारे में 

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ में एंटी इंकम्बेंसी विकसित नहीं होने पर राहुल ने कहा कि लोगों में वर्तमान सरकार को लेकर नाराजगी है लेकिन मीडिया इसको दिखा नहीं पा रहा है। क्योंकि जिन राज्यों में बीजेपी की सरकारें वहां पर मीडिया को जोरदार तरीके से डराया जा रहा है। इस वजह से वे सरकार विरोधी खबरें लोगों की दिखा ही नहीं पा रहे हैं लेकिन जनता सब समझती है ये बात वोटिंग वाले दिन ही सत्ताधारियों को समझ में आ जायेगी। बीजेपी राज में जनता का बहुत नुकसान हुआ है, वे त्रस्त हो चुके हैं। political news india

किसानों की स्थिति के बारे में

यह बात सही नहीं है कि कांग्रेस ने किसानों ने 50 सालों में कुछ नहीं किया। कांग्रेस ने हरित क्रांति दी, बैंकों का राष्ट्रीयकरण दिया, उदारीकरण दिया, सेलफोन-कंप्यूटर दिया, खेती का रास्ता बदला, खेती को बैलों, हलों से निकालकर ट्रैक्टर पर लायी, नयी तकनीक लायी। प्रधानमंत्री लालकिले से कहते हैं कि मेरे पीएम बनने से पहले देश का हाथी सो रहा था। क्या भारत हजारों वर्षों से सो रहा था, जो पीएम मोदी के आते ही जाग गया। यह बात कहना देशवासियों और पूरे देश का अपमान है। किसान को भविष्य का रास्ता नहीं पड़ रहा है। एमएसपी, बीमा, कर्जा हर मोर्चे पर किसानों के साथ धोखा किया जा रहा है। दूसरी ओर कर्ज में दबे हुए किसान देख रहे हैं कि कैसे नीरव मोदी, मेहुल चौकसी जैसे देश का हजारों करोड़ रुपया लेकर फुर्र हो गये हैं। किसानों को बीजेपी बेवकूफ समझ रही है लेकिन वह सिर्फ समय का इंतजार कर रहा है। political news india

राज्यों में चुनावों के नतीजे के बारे में

क्लीन स्वीप होगा। पूर्ण बहुमत से हमारी सरकारें बनेंगी। बीजेपी का यहां से सूपड़ा साफ होने वाला है। इन चुनावों में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कम से कम 3 से फीसदी का अंतर होगा। political news india

कांग्रेस के बड़े नेताओं की एकता के बारे में 

अगर आपका इशारा एमपी में कमलनाथ-दिग्विजय-सिंधिया की ओर है तो मैं समझता हूं कि हर राज्य में अनुभवी और युवा नेता हैं। इन दोनों को जोड़ने की जरूरत है। political news india

कर्जा माफ करने पर 

बीजेपी ने राफेल सौदे में देश का 30 हजार करोड़ रुपया उनकी जेब में डाल दिया। इस पैसे से पूरे मध्यप्रदेश के किसानों के कर्ज माफ किये जा सकते थे, लेकिन सत्ताधारी पार्टी ने ऐसा नहीं किया। क्योंकि उन्हें अपने उद्योगपतियों दोस्तों की फिक्र है। political news india

राफेल मुद्दे पर 

राफेल दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला है, मैं यह बात पूरे देश की जनता को समझाना चाहता हूं। मैं प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं कि दुनिया की सबसे बड़ी डिफेंस डील का टेंडर क्यों बदला गया? मेरा सवाल ह कि कांग्रेस जो लड़ाकू जहाज 526 करोड़ में खरीद रही थी, मोदी जी ने वही 1670 करोड़ रुपये प्रति जहाज के हिसाब क्यों खरीदने पड़े? 126 लड़ाकू जहाजों की संख्या भी कम करके 36 क्यों किया गया? 30,000 करोड़ रुपए अनिल अंबानी के पास कैसे पहुंच गये? मामले की जांच जेपीसी से कराने पर प्रधानमंत्री भाग क्यों रहे हैं। क्योंकि वह जानते कि अगर मामले की पूछताछ शुरू हुई तो उसके दायरे में मैं भी आ जाउंगा। political news india

रोजगार पर 

मोदी जी ने पिछले चुनाव में देश के युवाओं से 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात कही थी। हकीकत यह है कि पूरे देश में रोजा सिर्फ 450 युवाओं को ही रोजगार मिल पा रहा है। बाकी देश में युवा और रोजगार की क्या हालत है ये सबके सामने है। रही बात बिजनेस मिलने की, तो सिर्फ उनके लिए है जिनके सत्ताधारियों से संपर्क हैं या जो मोदी जी के मित्र हैं। political news india

व्यापमं, खनन, पीडीएस गड़बड़ी के आरोपों पर 

भाजपा शासित राज्यों में मीडिया पर इतना अधिक दबाव है वे सत्ताधारियों के घोटाले, भ्रष्टाचार उजागर ही नहीं कर पा रहे हैं। व्यापमं घोटाले के जरिये भाजपा ने मध्य प्रदेश की मेडिकल शिक्षा प्रणालियों और रोजगार पर अनैतिक रूप से कब्जा करने की कोशिश की है। सरकार सुप्रीम कोर्ट, सीबीआई, चुनाव आयोग, प्रेस सभी को डराना, दबाना चाहती है। उनके अपने प्रभाव से काम कराना चाहती है। सच्चाई उजागर करने वाले पत्रकारों की नौकरियां चली गयीं। जब सरकार पत्रकारों की दुश्मन बन जाये, देश का प्रधानमंत्री वायुसेना के पैसा अपने उद्योगपति मित्रों की जेब में डाल दे तो हालात कैसे होंगे? भले ही सरकार प्रेस का गला घोंट दे लेकिन जनता अपन मन बना चुकी है। पत्रकार खुलकर बोल नहीं पा रहे हैं, लिख नहीं पा रहे हैं लेकिन मन ही मन मान रहे हैं कि गड़बड़ हुई है। मेरी प्रेस कान्फ्रेंसों में ये बातें सामने आ रही हैं। political news india

अपने ऊपर हो रहे व्यक्तिगत हमलों पर

मेरा मानना है कि सामने वाला चाहे कितनी नफरत फैलाये आपको उसे प्यार और धैर्य के साथ जीतना होगा। उसे मंजूर करना होगा, उस नफरत से सीख लेनी होगी। भगवान शिव से सीखना होगा, जिन्होंने समाज के कल्याण के लिए कंठ में विष धारण कर लिया। मैंने नफरत और झूठ के विष से लड़ने का फैसला किया है। political news india

न्यायिक व्यवस्था पर

इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपना दर्द लोगों को सामने रखने के लिए मजबूर होना पड़ा है। जज लोया की हत्या का मामला में अमित शाह जी पर आरोप हैं। सीबीआई के डायरेक्टर को नियुक्त करने और हटाने का देश में कानून है। लेकिन रात को एक बजे प्रधानमंत्री गैर कानूनी आदेश से उनको हटा देते हैं। ये देश की पुलिस और न्याय व्यवस्था को चौपट करने उसपर कब्जा करने के स्पष्ट प्रयास हैं। political news india

महागठबंधन पर 

हम सभी को साथ लेकर चलेंगे। लेकिन देश की राजनीति का भाग्यविधाता महागठबंधन नहीं, बल्कि मुद्दे हैं। युवाओं को रोजगार है, किसान हैं। युवा बेरोजगारी से त्रस्त होकर दर-दर की ठोकर खा रहा है, छोटे-छोटे व्यापार नष्ट हो चुके हैं, हाहाकार मचा है। रोजगार, किसान, गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी), भ्रष्टाचार, नोटबंदी इन मुद्दों पर हम जनता के बीच जायेंगे। नोटबंदी ने असंगठित क्षेत्र की कमर तोड़ दी है। मध्यम और लघु उद्योगों को समाप्त कर दिया है। इन मुद्दों और विचारों के आधार पर हम महागठबंधन बनायेंगे। political news india

सीएम प्रोजेक्ट न करने पर

तीनों ही राज्यों में हमारे पास बहुत सक्षम और अनुभवी नेता हैं। हमारे पास कई चेहरे हैं। हम सबको प्रोजेक्ट कर रहे हैं। हम कांग्रेस पार्टी को प्रोजेक्ट करना चाहते हैं। पार्टी चुनाव लड़ती है और जीतती है। इसके बाद हम सीएम पर फैसला करते हैं। यही कांग्रेस पार्टी की परंपरा है। हम इसका पालन करेंगे। political news india

मुस्लिमों पर 

कांग्रेस हर वर्ग का दर्द समझती है, सभी को साथ लेकर चलती है। यही हमारे देश की खूबसूरती भी है और ताकत भी। political news india

मायावती-जोगी गठबंधन का कांग्रेस पर प्रभाव :

पहले मध्य प्रदेश में बसपा, सपा और दूसरी छोटी पार्टियों का कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की योजना तैयार की जा रही थी क्य‍ोंकि मायावती जी की पार्टी तय सीटों से ज्यादा सीटें चाहती थीं, इस वजह से रणनीति तैयार में कुछ समय लगा। इस दौरान मायावती ने छत्तीसगढ़ में जोगी जी के साथ गठबंधन करके सारी संभावनाओं को ही समाप्त कर दिया। लेकिन इसका चुनावों पर कोई असर नहीं पड़ने वाला। क्योंकि देश की जनता यह बात अच्छी तरह से जानती है कि अगर देश में कोई पार्टी है जो बीजेपी को हरा सकती है तो सिर्फ कांग्रेस है। लेकिन हम अभियान में क्षेत्रीय दलों की भूमिका को समझते और उन्हें अपने साथ लेकर या उनके साथ चलना चाहते हैं। political news india

अजीत जोगी पर

जोगी जी अप्रासंगिक हैं। वह छत्तीसगढ़ की राजनीति में कही नहीं हैं। political news india

अमेठी के विकास के बारे में

अमेठी के विकास के लिए वहां रोजगार के साधन पैदा करने के लिए देश को केंद्र और यूपी सरकार के सहयोग की जरूरत है लेकिन उस जगह को जानबूझकर उद्योगों, विकास से महरूम रखा जाता है। उनके साथ, वहां के युवाओं के साथ भेदभाव किया जाता है। political news india

political news india, narendra modi, prime minister, supreme court, media, CBI, Madya Pradesh, Chhattisgarh, Rajasthan, election, assembly election, indian democracy, interview, marketing, media pressure, vyapam, rafale scam, corruption, anti icumbency, BJP, Congress, farmers of india, defence deal, JPC, journalist, mahagathbandhan, unemployment, CBI director, youth, GST, Mayawati, Ajit Jogi, Amethi

साभार : दैनिक भास्कर