Home Business 2 लाख किसानों को नौकरी देंगे परम

2 लाख किसानों को नौकरी देंगे परम

208
0
how to know purity of milk
how to know the purity of milk
how to know purity of milk
param singh
मू फार्म एप के जरिये किसानों को मिलेगी सारी जानकारी

how to know purity of milk : चंडीगढ़। पशुओं की ब्रीडिंग का समय कब है। किसानों को कहां उचित मूल्य मिलेगा। दूध कितना शुद्ध है। ऐसी ही तमाम बातें अगर एप के जरिये मिल जायें या फिर कॉलेज से निकले बच्चे ये सब बताएं तो कैसा रहेगा। निश्चित रूप से यह एक नयी पहल होगी। ऐसा ही हरियाणा और पंजाब के कई इलाकों में हो रहा है और इसका विस्तार पहले हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड फिर अन्य राज्यों में होगा। इस संबंध में 8 राज्यों में 11 हजार बच्चों के जरिये उदय एवं मू फार्म कार्यक्रम चला रहे परम सिंह ने बताया कि राह में कई चुनौतियां हैं, लेकिन निकल पड़े हैं तो इसके सकारात्मक परिणाम निकल रहे हैं। उन्होंने बताया कि उनके इन प्रयासों से कृषि एवं प्राथमिक क्षेत्र में 2 लाख नौकरियों के अवसर सामने आने की संभावनाएं हैं। how to know purity of milk

45 तरह की नौकरियों की संभावनाएं 

केंद्र सरकार के स्किल इंडिया कार्यक्रम के तहत चला रहे इस कार्यक्रम के संबंध में परम बताते हैं कि वह 11 क्षेत्रों में ऐसे कार्यक्रम चला रहे हैं जिसमें 45 तरह की नौकरियों की संभावनाएं हैं। इनमें खेतीबाड़ी, दुग्ध उत्पाद एवं भवन निर्माण शामिल है। उन्होंने बताया कि पंजाब के संगरूर, मानसा आदि में डेयरी बिजनेस के तहत ऐसे कदम उठाये गए हैं जिससे किसानों की लागत में कमी आई है। मूलरूप से पंजाब निवासी और अब ऑस्ट्रेलिया में बस चुके परम ने चंडीगढ़ में बताया कि वह मूफार्म एप के जरिये पहले उन किसानों को जोड़ रहे हैं जिनके पास दो से पांच तक गायें हैं। how to know purity of milk  

ये भी पढ़ें : किसानों की income डबल करेंगे GOOGLE और IBM

how to know purity of milk : कुरुक्षेत्र, सोनीपत, पानीपत में चलायेंगे प्रशिक्षण अभियान 

अब वह जल्दी ही हरियाणा के कुरुक्षेत्र, सोनीपत, पानीपत आदि इलाकों में भी मंडी विपणन सहित कई कार्यक्रम चलाएंगे। उनका दावा है कि वर्ष 2020 तक वह अपने विभिन्न माध्यमों से दो लाख किसानों को प्रशिक्षित करेंगे। how to know purity of milk  

ये भी पढ़ें : आखिर चपरासी क्यों बनना चाहते हैं पीएचडी और पोस्ट ग्रेजुएट

…तो ऐसे पता चलेगी दूध की शुद्धता :

उनका कहना है कि दूध की शुद्धता नापने के लिए भी उन्होंने ‘द कलर ऑफ मिल्क’ अभियान चलाया है। इसके तहत वह दूध कितना सफेद यानी शुद्ध है के संबंध में प्रशिक्षण देंगे। परम का मानना है कि हमारे पशु स्वस्थ रहेंगे तो दूध अच्छा होगा। इसके लिए जानकारी के साथ-साथ साफ-सफाई पर ध्यान देने की जरूरत है। कब क्या खिलाना है, क्या ध्यान रखना है इसकी जानकारी किसानों को एप के जरिये मिल जाएगी। how to know purity of milk  

how to know the purity of milk
moofarm app, animals breeding, agriculture, farmers, cost of agriculture products, agriculture training, agriculture jobs, employment, Punjab, Haryana, Sonepat, Panipat, Kurukshetra, cows, color of milk campaign, skill India, clean India