Home political news ट्विटर की ‘तलवार’, फेसबुक के ‘औजार’ से 2019 की जंग लड़ेगी कांग्रेस

ट्विटर की ‘तलवार’, फेसबुक के ‘औजार’ से 2019 की जंग लड़ेगी कांग्रेस

471
0
how to do the election campaign in India
how to do the election campaign in India

दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत में अगले साल लोकतंत्र का सबसे बड़ा त्योहार मनायेगा। देश में अगले साल जून से पहले 17वीं लोकसभा का गठन हो जायेगा। इसके पहले देश के 90 करोड़ वोटर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें से 50 करोड़ लोग इंटरनेट के माध्यम से किसी न किसी सोशल मीडिया प्लेटफार्म से जुड़े हुए हैं। how to do the election campaign in India

भारत में 30 करोड़ लोग प्रयोग करते हैं फेसबुक  

भारत में फेसबुक के 30 करोड़ उपभोक्ता है। इसके अलावा व्हाट्सएप का प्रयोग करीब 20 करोड़ लोग करते हैं। इसके अलावा देश के कोरोड़ों लोग ट्विटर का भी प्रयोग करते हैं। पूरे देश में 45 करोड़ स्मार्टफोन प्रयोग किये जाते हैं। इस तादाद का अंदाजा आप इस बात से ही लगा सकते हैं कि इतनी देश में जितने स्मार्टफोन हैं, उतनी अमेरिका की जनसंख्या नहीं है। how to do the election campaign in India

Read also

आखिर क्यों दरक रहा है मोदी का वोट बैंक?

नरेंद्र मोदी ने कैसा जीता था 2014 का चुनावी किला

How the Congress will chalk Lok sabha elections out in 2019

2014 में बीजेपी ने किया खूब प्रयोग

how to do the election campaign in India
Social media use in election

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनावों में सत्ताधारी दल बीजेपी ने सोशल मीडिया का उपयोग धड़ल्ले से किया। चुनाव के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने सोशल मीडिया पर बीजेपी का बड़ा चुनाव अभियान डिजाइन किया। देश के कोने-कोने से बीजेपी और उसके नेताओं को लेकर फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया माध्यमों से पोस्ट डाली गयीं। इसके माध्यम से बीजेपी ने करोड़ों लोगों के मतों पर प्रभाव डाला। खासतौर पर उन लोगों पर जो अपने वोट को लेकर अनिर्णय की स्थिति में थे। बीजेपी ने अपने चुनावी एजेंडे को लोगों तक स्पष्ट रूप से पहुंचाया, और अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों पर खूब वार किये।

how to do the election campaign
in India : सोशल मीडिया, 3डी रैलियों ने बीजेपी को दिलायी जीत 

how to do the election campaign in India
Narendra Modi addressing an election rally by 3D mode.

इसका परिणाम यह निकला कि बीजेपी के चुनाव परिणाम प्रत्यक्ष रूप से उसके पक्ष में गये और वह स्पष्ट बहुमत पाकर देश में सत्तासीन हुई। इसके उलट कांग्रेस सोशल मीडिया के चुनावी अभियान में पिछड़ गयी, इसका नतीजा भी हमारे सामने है। बीजेपी ने चुनावी रैलियों में आधुनिक 3डी तकनीकि का प्रयोग। इसके जरिये मोदी ने एक ही समय में कई-कई जगह चुनावी रैलियों को संबोधित किया। ऐसा लग रहा था मानो देश में सिर्फ एक राजनेता ही चुनाव प्रचार कर रहा हो और वह था मोदी। भारतीय जनमानस पर इसका सीधा असर पड़ा। how to do the election campaign in India

2015 में ट्विटर पर आये राहुल गांधी 

जिस समय मोदी और उनकी टीम सोशल मीडिया के माध्यम जोरदार चुनाव प्रचार कर रही थी और विपक्षियों पर तीखे प्रहार कर रही थी, उस समय विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी और तत्कालीन सत्ताधारी दल कांग्रेस को सोशल मीडिया की एबीसीडी भी नहीं पता थी। राहुल गांधी तो ट्विटर पर सत्ता खोने के पूरे एक साल बाद यानी साल 2015 में ट्विटर पर आये हैं। how to do the election campaign in India

how to do the election campaign in
India :अब कांग्रेस ने भी ले लिया है ज्ञान 

how to do the election campaign in India
rahul gandhi making click a selfie with fans in a public bus

लेकिन अब कांग्रेस और उसके सहयोगियों दल भी इस हथियार का प्रयोग करना अच्छी तरह सीख गये है। पक्ष और विपक्ष दोनों ने अपनी सुसज्जित आईटी सेल तैयार कर ली हैं। अब कांग्रेस एक व्यवस्थित सोशल मीडिया सेल चला रही है। कलाकार से राजनीतिज्ञ बनी दिव्या संपदना राम्या की देखरेख में अलग-अलग राज्यों में से इसे संगठनात्मक रूप से संचालित किया जा रहा है। राज्यों में पार्टी की अलग-अलग गतिविधियों, रैलियों, आपराधिक गतिविधियों, सरकार की खामियों, विपक्षी पार्टी की गलतियों आदि को सोशल मीडिया पर खूब वायरल कर रही है। how to do the election campaign in India

how to do the election campaign
in India : सरकार पर हो रहे तीखे वार 

how to do the election campaign in India
rahul gandhi and narendra modi

सोशल मीडिया पर कांग्रेस अब सरकार पर खूब आक्रामक है। यह इसके माध्यम से जनता से संवाद भी स्थापित कर रही है। राहुल गांधी ट्विटर पर मोदी और सरकार की खामियों पर जोरदार प्रहार करते हैं। अब वह मोदी की सोशल मीडिया की रणनीतियों का जवाब उन्हीं की भाषा में देने की तैयारी कर रहे हैं।

संवाद का सीधा माध्यम है सोशल मीडिया 

सोशल मीडिया गांवों में कम ही सही लेकिन शहरों की सीटों प्रभावित करने की क्षमता तो रखती ही है। इसके माध्यम से न सिर्फ राजनीतिक दल के संदेश को जनता तक सीधा पहुंचाया जा सकता है, बल्कि उनसे संवाद भी स्थापित किया जा सकता है। किसी मुद्दे पर जनता की राय ली जा सकती है। ऑनलाइन सर्वे कराये जा सकते हैं। तमाम लोगों को एक साथ संबोधित किया जा सकता है। कहा जा सकता है कि 2019 की लोकसभा चुनाव की जंग देश की दोनों प्रमुख राजनीतिक पार्टियां सोशल मीडिया के हथियारों के साथ लड़ने को तैयार हैं। how to do the election campaign in India

how to do the election campaign
in India : 15.5 versus 45 crore 

According to research of Counterpoint, 15.5 crore people had smartphone in India in 2014, however, 45 crore smartphone users are currently prevail in the country. Now the easy guess could be made about the use and effect of social media in 2019 General elections. how to do the election campaign in India

 

how to do the election campaign in India
Twitter, Facebook, Election Strategy of Congress In 2019
election-winning strategies, Election Campaign In India, election-winning strategies, चुनाव कैसे जीतें, Lok Sabha elections, Lok Sabha elections, लोकसभा चुनाव, assembly elections, how to win election, polling booth, digital campaign, election campaign, campaigning strategies, BJP, Congress, AAP, how to win election online, Internet